Skip to main content

विश्व का इतिहास-Vishwa Ka itihas (1789-1964 A.D.) -(TEXT BOOK)- By Khurana and Sharma

264.00

Vishwa ithias (1789-1964 A.D.) – , By – Khurana & Sharma, ISBN Code – 978-93-87601-32-1

 

इस पुस्तक की विषय सूची इस प्रकार है-
(1789-1871 ई.)
1. औद्योगिक क्रान्ति,

2. यूरोप में समाजवाद का उदय और मजदूर आन्दोलन,

3. फ्रांस की राजक्रान्ति के कारण व विशेषताएँ,

4. डाइरेक्टरी,

5. काॅन्सल-शासन,

6. नेपोलियन के पतन में सहायक घटनाएँ,

7. वियना काँग्रेस,

8. यूरोप की संयुक्त व्यवस्था,

9. मेटरनिख,

10. 1830 की क्रान्तियाँ,

11. लुई फिलिप,

12. 1848 की क्रान्तियाँ,

13. लुई नेपोलियन तृतीय,

14. इंग्लैण्ड में उदारवाद और प्रजातन्त्र,

15. इटली का एकीकरण,

16. जर्मनी का एकीकरण,

17. पूर्वी समस्या (ग्रीस का स्वतन्त्रता आन्दोलन व क्रीमिया का युद्ध),

18. चीन का खुलना,

19. जापान में मेईजी पुनः स्थापना व आधुनिकीकरण,

20. अमेरिका का गृह युद्ध
(1871-1964 ई.)
1. जर्मन साम्राज्य (1871-1890),

2. फ्रांस का तृतीय गणतन्त्र,

3. आधुनिक इटली (1871-1914),

4. पूर्वी समस्या,

5. इंग्लैण्ड की शानदार पृथक्कीकरण की नीति,

6. जर्मन साग्राज्य-विलियम कैसर द्वितीय (1890-1914),

7. प्रथम विश्वयुद्ध,

8. पेरिस शान्ति सम्मेलन और पेरिस की सन्धि,

9. दो विश्व युद्धों के मध्य रूस,

10. हिटलर का उदय व नाजीदल,

11. फासिस्ट इटली ,

12. अरब राष्ट्रीयता,

13. आधुनिक तुर्की व मुस्तफा कमाल पाशा,

14. दो विश्व युद्धों के मध्य फ्रांस की विदेश नीति,

15. राष्ट्र-संघ,

16. निःशस्त्रीकरण,

17. आर्थिक मन्दी,

18. दो विश्वयुद्धों के बीच अमेरिका,

19. आधुनिक विश्व शक्ति के रूप में जापान का उदय और विदेश नीति,

20. द्वितीय विश्वयुद्ध,

21. चीन में साम्यवाद का अभ्युदय,

22. शीत-युद्ध,

23. गुटनिरपेक्ष आन्दोलन तथा तृतीय विश्व,

24. संयुक्त राष्ट्र-संघ

Description

Vishwa ithias (1789-1964 A.D.) – , By – Khurana & Sharma, ISBN Code – 978-93-87601-32-1

 

इस पुस्तक की विषय सूची इस प्रकार है-
(1789-1871 ई.)
1. औद्योगिक क्रान्ति,

2. यूरोप में समाजवाद का उदय और मजदूर आन्दोलन,

3. फ्रांस की राजक्रान्ति के कारण व विशेषताएँ,

4. डाइरेक्टरी,

5. काॅन्सल-शासन,

6. नेपोलियन के पतन में सहायक घटनाएँ,

7. वियना काँग्रेस,

8. यूरोप की संयुक्त व्यवस्था,

9. मेटरनिख,

10. 1830 की क्रान्तियाँ,

11. लुई फिलिप,

12. 1848 की क्रान्तियाँ,

13. लुई नेपोलियन तृतीय,

14. इंग्लैण्ड में उदारवाद और प्रजातन्त्र,

15. इटली का एकीकरण,

16. जर्मनी का एकीकरण,

17. पूर्वी समस्या (ग्रीस का स्वतन्त्रता आन्दोलन व क्रीमिया का युद्ध),

18. चीन का खुलना,

19. जापान में मेईजी पुनः स्थापना व आधुनिकीकरण,

20. अमेरिका का गृह युद्ध
(1871-1964 ई.)
1. जर्मन साम्राज्य (1871-1890),

2. फ्रांस का तृतीय गणतन्त्र,

3. आधुनिक इटली (1871-1914),

4. पूर्वी समस्या,

5. इंग्लैण्ड की शानदार पृथक्कीकरण की नीति,

6. जर्मन साग्राज्य-विलियम कैसर द्वितीय (1890-1914),

7. प्रथम विश्वयुद्ध,

8. पेरिस शान्ति सम्मेलन और पेरिस की सन्धि,

9. दो विश्व युद्धों के मध्य रूस,

10. हिटलर का उदय व नाजीदल,

11. फासिस्ट इटली ,

12. अरब राष्ट्रीयता,

13. आधुनिक तुर्की व मुस्तफा कमाल पाशा,

14. दो विश्व युद्धों के मध्य फ्रांस की विदेश नीति,

15. राष्ट्र-संघ,

16. निःशस्त्रीकरण,

17. आर्थिक मन्दी,

18. दो विश्वयुद्धों के बीच अमेरिका,

19. आधुनिक विश्व शक्ति के रूप में जापान का उदय और विदेश नीति,

20. द्वितीय विश्वयुद्ध,

21. चीन में साम्यवाद का अभ्युदय,

22. शीत-युद्ध,

23. गुटनिरपेक्ष आन्दोलन तथा तृतीय विश्व,

24. संयुक्त राष्ट्र-संघ

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “विश्व का इतिहास-Vishwa Ka itihas (1789-1964 A.D.) -(TEXT BOOK)- By Khurana and Sharma”

Your email address will not be published.