Skip to main content

मध्यकालीन भारत का इतिहास-Madhyakalin Bharat ka itihas (1200-1556 A.D.) -(TEXT BOOK)- By L.P. Sharma

192.00448.00

Clear selection

Madhyakalin Bharat ka ithias (1200-1556 A.D.) – , By – L.P. Sharma, ISBN Code – 978-93-87346-31-4

 

इस पुस्तक की विषय सूची इस प्रकार है-
तुर्क-अफगान काल
1. मध्यकालीन-भारतीय इतिहास के स्त्रोत

2. भारत पर अरबों का आक्रमण

3. 11वीं और 12वीं सदी में तुर्कों के आक्रमण और तुर्कों के राज्य की स्थापना (महमूद गजनबी और मुहम्मद गोरी), उत्तरी भारत में दिल्ली सल्तनत की नींव, कारण और परिस्थितियाँ, तुर्कों की सफलता के परिणाम, भारतीय समाज पर प्रभाव

4. कुतुबुद्दीन ऐबक और आरामषाह

5. सुल्तान इल्नुतमिष (1211-1236 ई.)

6. सुल्तान इल्नुतमिष के उत्तराधिकारी (सुल्तान और तुर्कों गुलाम-सरदारों के गुट (तुर्कान-ए-चिहालगानी) में राज्य-षक्ति के लिए संघर्ष: 1236-1265 ई.)

7. गियासुद्दीन बलबन (1265-1287 ई.) (बलबन का राजस्व सिद्धान्त) कैकुबाद और क्यूमर्स (1287-1290 ई.)

8. जलालुद्दीन फीरोजषाह खलजी (1290-1296 ई.)

9. अलाउद्दीन खलजी (1296-1316 ई.): (खलजी साम्राज्यवाद)

10. कुतुबुद्दीन मुबारक खलजी और खलजी-वंष का पतन (1316-1320 ई.)

11. गियासुद्दीन तुगलक (1320-1325 ई.)

12. मुहम्मद-बिन तुगलक (1325-1351 ई.) (प्रषासकीय परिवर्तन)

13. फीरोजषाह (तुगलक) (1353-1388 ई.)

14. फिरोजषाह के उत्तराधिकारी और तुगलक-वंष का पतन (1388-1414 ई.) (तुगलक वंष (दिल्ली-सल्तनत) के विघटन तथा पतन के कारण)

15. विभिन्न सैय्यद सुल्तान (1414-1450 ई.)

16. विभिन्न लोदी सुल्तान (1450-1526 ई.)

17. प्रान्तीय राज्य

18. मंगोल-आक्रमण और सुल्तानों की उत्तर-पष्चिम सीमा नीति

19. शासन व्यवस्था (राज्य का स्वरूप)

20. सभ्यता तथा संस्कृति: समाज, आर्थिक दषा, धार्मिक दषा, साहित्य, स्थापना अथवा भवन निर्माण-कला, संगीत-कला तथा चित्रकला।

SKU: N/A Categories: , , ,

Description

Madhyakalin Bharat ka ithias (1200-1556 A.D.) – , By – L.P. Sharma, ISBN Code – 978-93-87346-31-4

 

इस पुस्तक की विषय सूची इस प्रकार है-
तुर्क-अफगान काल
1. मध्यकालीन-भारतीय इतिहास के स्त्रोत

2. भारत पर अरबों का आक्रमण

3. 11वीं और 12वीं सदी में तुर्कों के आक्रमण और तुर्कों के राज्य की स्थापना (महमूद गजनबी और मुहम्मद गोरी), उत्तरी भारत में दिल्ली सल्तनत की नींव, कारण और परिस्थितियाँ, तुर्कों की सफलता के परिणाम, भारतीय समाज पर प्रभाव

4. कुतुबुद्दीन ऐबक और आरामषाह

5. सुल्तान इल्नुतमिष (1211-1236 ई.)

6. सुल्तान इल्नुतमिष के उत्तराधिकारी (सुल्तान और तुर्कों गुलाम-सरदारों के गुट (तुर्कान-ए-चिहालगानी) में राज्य-षक्ति के लिए संघर्ष: 1236-1265 ई.)

7. गियासुद्दीन बलबन (1265-1287 ई.) (बलबन का राजस्व सिद्धान्त) कैकुबाद और क्यूमर्स (1287-1290 ई.)

8. जलालुद्दीन फीरोजषाह खलजी (1290-1296 ई.)

9. अलाउद्दीन खलजी (1296-1316 ई.): (खलजी साम्राज्यवाद)

10. कुतुबुद्दीन मुबारक खलजी और खलजी-वंष का पतन (1316-1320 ई.)

11. गियासुद्दीन तुगलक (1320-1325 ई.)

12. मुहम्मद-बिन तुगलक (1325-1351 ई.) (प्रषासकीय परिवर्तन)

13. फीरोजषाह (तुगलक) (1353-1388 ई.)

14. फिरोजषाह के उत्तराधिकारी और तुगलक-वंष का पतन (1388-1414 ई.) (तुगलक वंष (दिल्ली-सल्तनत) के विघटन तथा पतन के कारण)

15. विभिन्न सैय्यद सुल्तान (1414-1450 ई.)

16. विभिन्न लोदी सुल्तान (1450-1526 ई.)

17. प्रान्तीय राज्य

18. मंगोल-आक्रमण और सुल्तानों की उत्तर-पष्चिम सीमा नीति

19. शासन व्यवस्था (राज्य का स्वरूप)

20. सभ्यता तथा संस्कृति: समाज, आर्थिक दषा, धार्मिक दषा, साहित्य, स्थापना अथवा भवन निर्माण-कला, संगीत-कला तथा चित्रकला।

Additional information

Cover Type

Hard Bound Edition, Paper Back Edition

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “मध्यकालीन भारत का इतिहास-Madhyakalin Bharat ka itihas (1200-1556 A.D.) -(TEXT BOOK)- By L.P. Sharma”

Your email address will not be published.